​जुगाड़ू बने और दुनीया को जीते।

Write by: Chandan Jat | 13 June 17
​क्या आप भी जुगाड़ू है, अगर हाँ तो आपके लिए दुनीया का कोई भी कार्य मुश्किल नही है।

हर किसी का सपना होता है, की जिवन में एेस करना व ख़ुश रहना। ज़्यादातर लोग कहते है Smart work करो यानी जुगाड़ लगाओ। किसी भी क्षेत्र में जो भी सफल है या हुवा है, तो वह जुगाड़ू ही हुवा है। दुनीया कि किसी भी बड़ी कम्पनी या सिस्टम को देख लिजीए सब जुगाड़ करके ही बनी या बना है। जुगाड़ का मतलब यह नही होता है की जल्दी सफल होने के चक्कर में जैसे तेसे काम चला लेना, ब्लकि जुगाड़ का मतलब यह होता है की कोई भी काम को किसी भी तरह से सफल करना व जितना जल्दी हो उतना जल्दी कमाना। जो जुगाड़ लगा सकता है वह कुछ भी कर सकता है और कैसी भी परिस्थिति से गुज़र सकता है। भले जिवन का कोई भी पड़ाव या जगह क्यों न हो मोका कभी नही छोड़ता, जुगाड़ लगाकर सफलता हासील करके ही रहता है। जुगाड़ू के लिए किसी कार्य को किसी भी तरह के मार्केट में क्वालिटी को बरक़रार रखते हुए, कानुन का पालन करते हुए, किसी के जीवन से खिलवाड़ न करते हुए हर कार्य सम्भव हैं। कोई भी स्टार्टअप जुगाड़ से ही शुरू होता हैं, और जुगाड़ से ही सफल होता है और जुगाड़ से ही मार्केट में टिका रहता है फिर चाहै वह मार्केट नेशनल हो या इन्टरनेशनल। जुगाड़ के बग़ैर कुछ भी सम्भव नही है ॥

अगर जुगाड़ू जुगाड़ लगाता है तो, जुगाड़ को सफल बनाने वाला जुगाड़ु (भगवान) हर तरह के जुगाड़ को सफल ज़रूर बनाता है॥
क्षेत्र चाहै कोई भी हो, हमेशा जुगाड़ु ही आगे रहता है।
कार्य चाहै केसा भी हो हमेशा जुगाड़ु ही सफल होता है॥