​बेहतर को और बेहतर बनाए, बेहतर परीणाम पाए।

Write by: Chandan Jat | 14 June 17
​जो भी सफल है, उन्होंने ज़्यादा से ज़्यादा ध्यान अपने काम को बेहतर करने पर दिया है, क्योंकि उन्है पत्ता है लम्बे समय तक टिकना है तो अपने आपको और अपने काम को बेहतर बनाना होगा।

यहा पर ज़्यादातर लोग ऐसे है, जो अपने काम को हमेशा बेहतर बनाने के लिए तेयार रहते है। भले ही उनका काम सबसे बेहतर क्यों न हो फिर भी वह हमेशा अपने आपको व अपने काम को बेहतर बनाने में कोई समझौता नही करते। क्योंकि उन्है पत्ता है की लम्बी दुरी तय करनी है, तो अपने काम को और बेहतर बनाना ही होगा।

जहा लोग बेहतर को और बेहतर बनाने में लगे हुए हैं। वही कुछ लोग दूसरों को दोष देते रहेंगे मगर अपने कार्य की तरफ कभी भी ध्यान नहीं देते। अगर बेहतर को और बेहतर नहीं बनाया गया तो आपकी कुछ सफलता कुछ ही दिनों में असफलता में बदल जाएगे।

अगर अपने व्यवसाय को सफल बनाये रखना हैं तो हर दिन कुछ नया सीखना होगा और अपने कार्य को बेहतर बनाना होगा। तभी जाकर शिखर पर ठहर पाएंगे।  

एक खिलाड़ी गोल्ड मेडल तभी जीतता है, जब वह अच्छा खेलता है। और अच्छा खेलने के लिए वह हर दिन अपने आप को बेहतर बनाने लगा रहता है। तभी जाकर विजेता बनता है और एक बार जितने के बाद भी, पुरी दुनीया में एक नम्बर पर आने के बाद भी वह अगले मैच के लिए हर दिन तैयारी करता रहता है। क्योंकि उसे पत्ता है की अगर रूक गया, तो कोई भी उसे हरा कर आगे निकल जायेगा। इसलिए बिना रुके लगातार मेहनत करता रहता है। और अगली बार और मेडल लाने के लिए तैयार रहता है।

एक जंगल में हिरण ओर शेर दोनों सुबह जागने के बाद तेज़ भागने की तैयारी करते है। क्योंकि हिरण को पत्ता है अगर तेज़ नही भागा तो किसी का शिकार हो जाऊँगा। और शेर को पत्ता है की अगर तेज़ नही भागा तो भूखा मर जाऊँगा। इसलिए दोनों अपनो आप को बेहतर बनाते है, और हर दिन वही काम करते हैं लेकिन हर दिन अपने आपको तेज दौड़ने के तैयार करते हैं।

इस दुनीया का एक अजीब नियम है। की यह स्तर नही रहती। हर पल बदलती रहती है। जो स्तर हो जाता है, वह स्तर होते ही धीरे धीरे पीसे खिसकना शुरू हो जाते है।

मन्जिल पाने के बाद जो रूक जाते है वह वहाँ पर रुके नही रहते थोड़े ही दिनों में उलटी गिनती शुरू हो जाती है और धीरे धीरे उनका स्तर नीचे आने लग जाता है। क्योकि यहा पर कोई स्तर नहीं रह सकता। या तो ऊपर उठता हैं या निचे गिरता हैं। संसार के नियम को कोई तोड़ नहीं सकता और इसलिए कोई स्तर नहीं हो सकता।

अगर आपको लगता हैं, की बहुत सारे पैसे कमाने के बाद हमें कुछ भी कार्य करना नहीं पड़ेगा तो आपकी सोच बिलकुल गलत हैं। फिर आपको पैसे कमाने के लिए तो शायद काम न करना पड़े। लेकिन पेसो को बनाये रकने के लिए तो काम करना ही पड़ेगा।

इसी प्रकार आप भले कुछ भी व्यवसाय स्टार्ट करले, सफल होने के बाद भी, उसको सफल बनाये रखने के लिए उस पर कार्य करना पड़ेगा। इसलिए अपने कार्य को हमेशा बेहतर करते जाये और बेहतर परिणाम पाये।

काम करने से बेहतर है, कुछ अच्छा काम करना, क्योंकि समय तो उतना ही लगना है।

अच्छा काम वही लोग किया करते है, जिन्हें पत्ता है की कुछ अच्छा करने वाले ही लम्बी दुरी तय करते है॥

खेल को समझलेगे तो खेल भी आपका होगा ओर खिलाड़ी भी आपके ही होगे॥