​जीवन है, यह तो बदलेगा।

Write by: Chandan Jat | 15 June 17
​एक ही वस्तू एक ही समय पर, अलग अलग जगह अलग अलग लोगों के लिए अलग अलग काम करती है। सब कुछ परिस्थिति पर निर्भर करती है॥

ज़रूरी नही की जीवन हमेशा एक जैसा ही चले, समय के हिसाब से कभी अच्छा चलेगा तो कभी ठिक ठाक, और कभी कुछ ख़ास नही होगा। 

जीवन है, यह तो बदलेगा॥


कभी ख़ुशियाँ होगी तो कभी ग़म होगे जिवन में, ख़ुशी और ग़म कभी भी साथ साथ नही होगे, क्योंकि यही तो नियम है जीवन का।

जीवन है, यह तो बदलेगा॥

परिस्थिति के हिसाब से ख़ुद को ढाल लेना ही तो जीवन है, सुख में सभी को ख़ुश रखना व ग़म में ख़ुद ही ख़ुश रहना ही तो जीवन है।
जीवन है, यह तो बदलेगा॥

चुनोतीयो को हमेशा हँसकर स्वीकार करना और हर चुनोती तो हल कर के दिखाना। यह कला सीख लेना ही तो जीवन है।
जीवन है, यह तो बदलेगा॥