​जीवन है, यह तो बदलेगा।

Write by: Chandan Jat | 4:43 AM 15 June 17
​एक ही वस्तू एक ही समय पर, अलग अलग जगह अलग अलग लोगों के लिए अलग अलग काम करती है। सब कुछ परिस्थिति पर निर्भर करती है॥ Read more.

​भाग्य का ताला, मेहनत की चाबी से ही खुलता है।

Write by: Chandan Jat | 4:40 AM 15 June 17
​भाग्य सबका अलग अलग होता है, लेकीन भाग्य सबका होता है। किसी के भाग्य में क्या लिखा है ये तो पत्ता नही, लेकीन भाग्य हमेशा मेहनत करने वालों का ही खुलता है। Read more.